15 मई को आयोजित सी.डी.पी.ओ. (पी.टी.) परीक्षा को लेकर जारी हुआ संयुक्तादेश ।

दरभंगा : बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (प्रारम्भिक) प्रतियोगिता परीक्षा को लेकर जिला दण्डाधिकारी-सह-संयोजक, दरभंगा राजीव रौशन एवं वरीय पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार द्वारा संयुक्त रूप से जिला आदेश निर्गत किया गया है।
   संयुक्तादेश में कहा गया है कि बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (प्रारम्भिक) प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन 15 मई 2022 (रविवार) को 12ः00 बजे मध्याह्न से 02 बजे अपराह्न तक दरभंगा जिला के शहरी क्षेत्र स्थिति निर्धारित 18 परीक्षा केन्द्रों यथा :- एम.एल.एस.एम. कॉलेज, दरभंगा, प्लस 2 एम.ए.आर. महिला विद्यालय, लालबाग, दरभंगा, आर.बी. जालान कॉलेज, दरभंगा, प्लस 2 देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद बालिका उच्च विद्यालय, दरभंगा, महात्मा गाँधी कॉलेज, दरभंगा, सी.एम. साईंस कॉलेज, दरभंगा, सी.एम. कॉलेज, किलाघाट, दरभंगा, मिल्लत कॉलेज, दरभंगा, बी.के.डी. राजकीय बालक उच्च विद्यालय जिला स्कूल), दरभंगा, मारवाड़ी कॉलेज, दरभंगा, के.एस. कॉलेज, लहेरियासराय, दरभंगा, महारानी कल्याणी कॉलेज, लहेरियासराय, दरभंगा, प्लस 2 एम.एल एकेडमी, लहेरियासराय, दरभंगा, माउन्ट समर कॉनभेन्ट स्कूल, लहेरियासराय, दरभंगा, राज उच्च विद्यालय, दरभंगा, कर्पूरी ठाकुर बालक राजकीय उच्च विद्यालय, लहेरियासराय, दरभंगा, न्यू होराईजन पब्लिक स्कूल, अलफगंज, कैदराबाद, दरभंगा एवं एंजल उच्च विद्यालय, भीगो, दरभंगा में निर्धारित है।
    जिला संयुक्तादेश में बताया गया है कि दरभंगा जिला में बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (प्रारम्भिक) प्रतियोगिता परीक्षा में कुल – 10,500 परीक्षार्थी भाग लेंगे।
   उन्होंने बताया है कि बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा बाल विकास परियोजना पदाधिकारी (प्रारम्भिक) प्रतियोगिता परीक्षा हेतु जिलाधिकारी को जिला में उक्त परीक्षा के संयोजक बनाया गया है। इसके साथ ही अपर समाहर्ता, दरभंगा विभूति रंजन चौधरी (मोबाईल नम्बर – 9473191318) को आयोग के निर्देशालोक में उक्त परीक्षा का सहायक संयोजक बनाया गया है, वे तदनुसार अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए उक्त परीक्षा को दरभंगा जिला में स्वच्छ, शांतिपूर्ण एवं सुचारू पूर्वक कराना सुनिश्चित करेंगे।
   जिला दण्डाधिकारी द्वारा अनुमण्डल पदाधिकारी सदर को उक्त परीक्षा में परीक्षा केन्द्र पर शांति-व्यवस्था बनाए रखने हेतु परीक्षा तिथि 15 मई 2022 को सभी परीक्षा केन्द्रों के आस-पास 500 गज की परिधि में द.प्र.सं. की धारा-144 के तहत निषेधाज्ञा जारी करने का निर्देश दिया गया है।
   उक्त परीक्षा को स्वच्छ, शांतिपूर्ण सुचारू पूर्वक संचालन कराने हेतु सभी परीक्षा केन्द्रों पर स्टैटिक दंडाधिकारी एवं पुलिस बल सहित सशस्त्र पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गयी है, इसके साथ ही परीक्षा केंद्रों को 06 जोन में विभक्त करते हुए 06 जोनल दण्डाधिकारी बनाये गए हैं, जो परीक्षा के दौरान लगातार परीक्षा केंद्रों की गस्ती करेंगे तथा स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न कराना सुनिश्चित करेंगे।
   सभी प्रतिनियुक्त स्टैटिक दंडाधिकारी, पुलिस बल एवं सशस्त्र पुलिस बल को परीक्षा तिथि 15 मई को पूर्वाह्न 09ः30 बजे तक अपने आवंटित परीक्षा केन्द्र पर निश्चित रूप से पहुंच जाने का निर्देश दिया गया है।
   सभी स्टैटिक दंडाधिकारी को निर्देशित किया कि परीक्षा केन्द्र पर प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल के सहयोग से किसी भी बाहरी व्यक्ति को परीक्षा केन्द्र के अंदर नहीं जाने देंगे तथा परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर ही परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र में लेगे फोटो से उनके चेहरे का मिलान कर ही अन्दर जाने देंगे। इसके साथ ही वे किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में कैलकुलेटर, मोबाईल, ब्लूटूथ, वाई-फाई गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक पेन, कलाई घड़ी, स्मार्ट वॉच, पेजर इत्यादि जैसी इलेक्ट्रॉनिक सामग्री तथा Whitener, eraser एवं blade जैसी सामग्री लेकर प्रवेश नहीं करने देंगे।
   प्रभारी परिचारी, प्रवर, दरभंगा को प्रत्येक परीक्षा केन्द्र पर एक-एक पुलिस पदाधिकारी एवं पुरूष तथा महिला नियमित सशस्त्र पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति करते हुए परीक्षा तिथि को पूर्वाह्न 09ः30 बजे तक उन्हें कराना सुनिश्चित करवाने को कहा गया है।
   केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि परीक्षा केन्द्र पर मुख्य द्वार के पास महिला एवं पुरुष परीक्षार्थियों के चिट-पूर्जा एवं इलेक्ट्रॉनिक सामग्रियों जाँच हेतु घेरा बनाकर परीक्षार्थियों को अच्छी तरह से छान-बीन (फ्रिस्किंग) कराकर ही परीक्षा कक्ष में भेजा जाए।
  सभी केन्द्राधीक्षकों को निर्देशित किया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु सरकार द्वारा जारी एस.ओ.पी. तथा कोविड अनुकूल व्यवहार का अनुपालन परीक्षा केन्द्र पर कराना सुनिश्चित करेंगे।
   सभी केन्द्राधीक्षकों को कहा गया है कि आयोग द्वारा उक्त परीक्षा के संचालन हेतु केन्द्राधीक्षकों को उपलब्ध करायी गयी अनुदेश पुस्तिका के अनुसार केन्द्राधीक्षक को अपने-अपने परीक्षा केन्द्र पर वीडियोग्राफी के लिए वीडियोग्राफर की व्यवस्था करनी है, वे परीक्षा केन्द्र पर वीडियोग्राफर से परीक्षा प्रारंभ होने के पूर्व से ही तथा परीक्षा समाप्त होने तक सभी महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं जैसे – गोपनीय सामग्री को सील खोलकर निकालना, पैक करना, परीक्षा कक्ष एवं बाहरी गतिविधियों की लगातार वीडियोग्राफी कराते रहेंगे।
    केन्द्राधीक्षक, स्टैटिक दण्डाधिकारी, जोनल दण्डाधिकारी को सख्त निर्देश दिया गया है कि उक्त परीक्षा में फर्जी परीक्षार्थी या ऐसे परीक्षार्थी जो कदाचारिता करते पकड़े जाते हैं, तो उनके विरूद्ध परीक्षा संचालन अधिनियम-1981 के तहत आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करेंगे।
   केन्द्राधीक्षक को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि वे अपने परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा कार्य में प्रतिनियुक्त सभी शिक्षक/कर्मी को परीक्षा पूर्व ही परिचय पत्र निर्गत करेंगे। इसके साथ ही सभी वीक्षक/कर्मी को निदेशित किया गया है कि वे अपना परिचय पत्र अपने शर्ट के पैकेट के सामने लगाकर रखेंगे।
   सभी केन्द्राधीक्षकों को निर्देशित किया गया है कि परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार को छोड़कर शेष सभी द्वार को बन्द रखना सुनिश्चित करेंगे। 
   सभी संबंधित थानाध्यक्ष को अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत पड़ने वाले उक्त परीक्षा केन्द्र पर कड़ी निगरानी रखने तथा शांतिपूर्वक एवं कदाचारविहीन परीक्षा संचालन कराने का निर्देश दिया गया है।
   अनुमण्डल पदाधिकारी, सदर एवं अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सदर उक्त परीक्षा के विधि व्यवस्था के वरीय प्रभार में रहेंगे।
   जिला दण्डाधिकारी द्वारा सभी केन्द्राधीक्षक, स्टैटिक दण्डाधिकारी, जोनल दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं परीक्षा कार्य से जुड़े अन्य सभी पदाधिकारी/कर्मी को उक्त परीक्षा को बिहार लोक सेवा आयोग के निर्देशालोक में हरहाल में शांतिपूर्ण, कदाचारविहीन एवं सुचारू पूर्वक संचालन कराना सुनिश्चित करेंगे ।

प्रदेश