दंगाई कौन और क्यू बनते है ?

Haryana News Reporter: पंचकूला_चंडीगढ़।
ऐसे युवा जिनकी समाज मे किसी तरह की कोई पहचान और कोई पूछ नही होती अक्सर वो युवा दंगाई बनते है आप अपने चारो तरफ नजर दौडाओ तो आप को इस बात का स्पष्टीकरण तुरंत मिल जायेगा ।
वो युवा या बेरोजगार होगे या फिर घर परिवार मे जिनकी कोई खास वैल्यू नही होगी या फिर ऐसे युवा जिनको तिरस्कृत या फिर घरेलू हिंसा का शिकार होगे और भी बहुत सारे कारण है जैसे की खुद को फेमस करने के चक्कर मे भी बहुत सारे युवा दंगाई मानसिकता से ग्रसित हो जाते है और दंगा फसाद करके खुद को प्रचलित करने की जुगत मे रहते है ऐसे युवाओ की भारत ही नही बल्कि विश्व के सभी देशो मे कोई कमी नही है इन्ही का फाइदा उठा कर कई लोग अपना हित साध लेते है दंगाई प्रवृति के लोग बिना पढे लिखे भी हो सकते है और पढे लिखे भी अधिकांश की संख्या बिना पढे लिखे और बेरोजगारो की होती है।
इनको जब तक संरक्षण नही मिलता तब तक ये स्वयम कुछ नही कर सकते।
इस लिये दंगाई जितने दंगा करने के जिम्मेदार होते है उतने ही उन्हे संरक्षण देने वाले.

क्राइम