केंद्र सरकार के तीन कृषि काले कानून के विरोध में छुरिया बंद


किसान आंदोलन के नाम पर अराजकता फैलाने की कोशिश असामाजिक तत्वों के द्वारा तलवार की धार पर बंद कराया गया नगर

राजनांदगांव ब्यूरो
खिलावन साहू

राजनांदगांव छुरिया-किसान संगठनों द्वारा 27 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया गया था। जहां अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के द्वारा भारत बंद का समर्थन करते हुए छुरिया नगर को बंद करने में सफल बनाने के लिए एक दिन पुर्व शाम को खुज्जी विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती छन्नी चंदू साहू व कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने सभी नगर स्थित दुकानों में पहुंचकर व्यापारियों से एक दिन बंद पर समर्थन देने अपील की थी। वहीं सुबह से किसान नेता मदन नेताम के साथ असामाजिक तत्वों ने भी नगर के खुले हुए दुकानदारों से तलवार दिखा कर बंद को समर्थन देने को कहा। जिस पर नगर के व्यापारियों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। जिस पर स्थानीय प्रशासन मौन साधे हुए है। बंद को समर्थन देने आए लोगों के द्वारा खुलेआम आर्म्स एक्ट का उल्लंघन किया गया। जहाँ पर यह अंदेशा लगाया जा रहा है कि ये लोग किसान आंदोलन के नाम पर किसी भी घटना को अन्जाम दे सकते थे। जिसका परिणाम काफी गंभीर हो सकता था। जो कि बहुत ही गंभीर विषय है। जिसकी चर्चा आज सुबह से ही नगर में चलती रही।

इस विषय पर किसान नेता मदन नेताम से चर्चा करने पर बताया गया कि हमारे द्वारा पुर्व में राज्य सरकार को 13 सुत्रीय मांग को लेकर नेशनल हाईवे में सर्व आदिवासी समाज ने चक्काजाम किया था, जिस पर शासन प्रशासन ने अबतक किसी मांग को पूरा नहीं किया है। वहीं जिसमें एक प्रमुख मांग कृषि कानून शामिल होना बताया गया। जिसके कारण किसान संघ के साथ-साथ सर्व आदिवासी समाज के लोग आपसी समन्वय बनाकर इस भारत बंद को सफल बनाने का आव्हान किया। वहीं जो सर्व आदिवासी समाज का बाना है, केंद्र सरकार व राज्य सरकार जानती है कि यह आदिवासी समाज का सांस्कृतिक बाना है। जिसे लेकर चलना पड़ता है। किसी प्रकार हादसा नुकसान पहुंचाने के लिए नहीं चलते। वह दुनिया को दिखाना पड़ता है। समाजिक हथियार रख हमारे द्वारा विनम्रतापूर्वक दुकानदारों को भारत बंद को समर्थन देने को कहा गया है।
मदन नेताम, किसान नेता

छूरिया ब्लाक सर्व धर्म सर्व समाज के लोग निवास करते यह नगर शन्ति का टापू है इसे कांग्रेस और तथा कथित किसान नेता तलवार लेकर स्थानीय शांति भंग करने की कोशिश कभी सफल नही होने देंगे
रविन्द्र वैष्णव, अध्यक्ष मंडल भाजपा छुरिया

मुझे जानकारी मिला कि किसान संघ के नेता के साथ सर्व आदिवासी समाज के लोग भी नगर में दुकानदारों से बंद करने निवेदन किया वहीं जानकारी मिला कि कुछ सर्व आदिवासी समाज के कुछ लोग खुलेआम तलवार लेकर घुमें है जो रिती रिवाज अनुसार से बंद कराये ये मैं नहीं समझता हालांकि आदिवासी समाज त्योहार में लेकर घुमें तो अलग बात है।
रितेश जैन,अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी छुरिया

किसान संघ आंदोलन में किसी भी हिंसा फैलाने वालों की निंदा करते हैं हमारा आंदोलन में हिंसा पर विश्वास नहीं है यह तलवार लेकर घुमने की बात मेरे संज्ञान में नहीं है अगर किसी ने तलवार लेकर घुमा हों उसकी हम कड़ी निंदा करते हैं किसी प्रकार का हिंसा का समर्थन नहीं किया जायेगा।सुदेश टीकम,किसान नेता

बड़ी खबर राजनीति