वन्यजीवों की तीसरी खेप सोमवार को गुजरात से राजगीर भेजी गयी।

वन्यजीवों की तीसरी खेप सोमवार को गुजरात से राजगीर भेजी गयी। वहां से दो शेर तो चार शेरनी लायी गयी हैं। अब जू-सफारी खुलने को पूरी तरह तैयार है। बस, इंतजार है सीएम नीतीश कुमार को उद्घाटन की तिथि तय करने की। 26 अगस्त को सीएम नीतीश कुमार ने जू-सफारी का जायजा लिया था। इसके पहले दूसरी खेप में पटना से एक जोड़ा भालू तो एक जोड़ा चीता लाये गये थे। पहली खेप में लाये गये एक शेर, दो बाघ व आठ बार्किंग हिरण (काकड़) को खुले में छोड़कर यह देख लिया गया है कि वे यहां की आबोहवा में रच-बस गये हैं। पहले लाये गये सभी वन्यजीव पूरी तरह स्वस्थ हैं।

यहां 22 सौ तक शाकाहारी पशुओं के अलावा शेर, बाघ, भालू, चीता की संख्या 8-8 की जानी है। लेकिन, भविष्य में 18 सौ भालू, 1,750 तेंदुए, 1,795 बाघ व 1,950 शेरों के रखने की व्यवस्था की सोच बनाकर निर्माण कार्य किया गया है। 10 हजार से अधिक प्रताजियों की तितलियां रखने की भी योजना है।

177 करोड़ से 191 हेक्टेयर में जू सफारी बनायी गयी है। सफारी की तमाम संरचनाओं को सेंट्रल जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने बेहतर माना है। पशुओं के रखरखाव से लेकर उनके प्रजनन की बेहतर व्यवस्था की जांच के बाद ही जानवरों के लाने की अनुमति दी गयी है। यहां शेर, बाघ, चीता, भालू, हिरण व अन्य जानवर खुले में विचरण करते नजर आएंगे। जबकि, सैलानी बख्तरबंद गाड़ियों में होंगे। सफारी की सबसे बड़ी खासियत यह कि इसका विहंगम दृश्य राज्य पक्षी गौरैया जैसा है।

यह देश की सबसे खूबसूरत, सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करने वाली यूनिक सफारी है। यहां स्काई जोन भी बनाया जा रहा है। वहां खड़ा होकर पूरी सफारी के विहंगम दृश्य को देखकर सैलानी रोमांचित होंगे। यहां बनने वाला तितली घर देश का पहला है। वहां से दो शेर तो चार शेरनी लायी गयी हैं। अब जू-सफारी खुलने को पूरी तरह तैयार है। बस, इंतजार है सीएम नीतीश कुमार को उद्घाटन की तिथि तय करने की। 26 अगस्त को सीएम नीतीश कुमार ने जू-सफारी का जायजा लिया था। इसके पहले दूसरी खेप में पटना से एक जोड़ा भालू तो एक जोड़ा चीता लाये गये थे। पहली खेप में लाये गये एक शेर, दो बाघ व आठ बार्किंग हिरण (काकड़) को खुले में छोड़कर यह देख लिया गया है कि वे यहां की आबोहवा में रच-बस गये हैं। पहले लाये गये सभी वन्यजीव पूरी तरह स्वस्थ हैं।

यहां 22 सौ तक शाकाहारी पशुओं के अलावा शेर, बाघ, भालू, चीता की संख्या 8-8 की जानी है। लेकिन, भविष्य में 18 सौ भालू, 1,750 तेंदुए, 1,795 बाघ व 1,950 शेरों के रखने की व्यवस्था की सोच बनाकर निर्माण कार्य किया गया है। 10 हजार से अधिक प्रताजियों की तितलियां रखने की भी योजना है।

177 करोड़ से 191 हेक्टेयर में जू सफारी बनायी गयी है। सफारी की तमाम संरचनाओं को सेंट्रल जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने बेहतर माना है। पशुओं के रखरखाव से लेकर उनके प्रजनन की बेहतर व्यवस्था की जांच के बाद ही जानवरों के लाने की अनुमति दी गयी है। यहां शेर, बाघ, चीता, भालू, हिरण व अन्य जानवर खुले में विचरण करते नजर आएंगे। जबकि, सैलानी बख्तरबंद गाड़ियों में होंगे। सफारी की सबसे बड़ी खासियत यह कि इसका विहंगम दृश्य राज्य पक्षी गौरैया जैसा है।

यह देश की सबसे खूबसूरत, सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करने वाली यूनिक सफारी है। यहां स्काई जोन भी बनाया जा रहा है। वहां खड़ा होकर पूरी सफारी के विहंगम दृश्य को देखकर सैलानी रोमांचित होंगे। यहां बनने वाला तितली घर देश का पहला है।

The third consignment of wildlife was sent from Gujarat to Rajgir on Monday. Two lions and four lionesses have been brought from there. Now Zoo-Safari is all set to open. Just waiting for CM Nitish Kumar to decide the date of inauguration. On 26 August, CM Nitish Kumar took stock of zoo-safari. Before this, a pair of bears and a pair of cheetahs were brought from Patna in the second consignment. One lion, two tigers and eight barking deer (Kakad) brought in the first batch were left in the open and it has been seen that they have settled in the climate here. All the wildlife brought earlier are completely healthy.

In addition to 22 hundred vegetarian animals, the number of lions, tigers, bears, cheetahs is to be increased to 8-8. But, the construction work has been done by thinking of the arrangement to keep 18 hundred bears, 1,750 leopards, 1,795 tigers and 1,950 lions in future. There is also a plan to keep butterflies of more than 10 thousand species.

Zoo Safari has been made in 191 hectares from 177 crores. All the structures of the safari have been considered better by the Central Zoo Authority of India. From the maintenance of animals to their breeding arrangements, permission has been given to bring animals only after checking. Here lions, tigers, cheetahs, bears, deer and other animals will be seen roaming in the open. Whereas, the tourists will be in armored vehicles. The biggest feature of the safari is that its bird’s eye view is like the state bird sparrow.

This is the country’s most beautiful, unique safari that attracts tourists. A sky zone is also being built here. Standing there, tourists will be thrilled to see the panoramic view of the entire safari. The butterfly house to be built here is the first in the country. Two lions and four lionesses have been brought from there. Now Zoo-Safari is all set to open. Just waiting for CM Nitish Kumar to decide the date of inauguration. On 26 August, CM Nitish Kumar took stock of zoo-safari. Before this, a pair of bears and a pair of cheetahs were brought from Patna in the second consignment. One lion, two tigers and eight barking deer (Kakad) brought in the first batch were left in the open and it has been seen that they have settled in the climate here. All the wildlife brought earlier are completely healthy.

In addition to 22 hundred vegetarian animals, the number of lions, tigers, bears, cheetahs is to be increased to 8-8. But, the construction work has been done by thinking of the arrangement to keep 18 hundred bears, 1,750 leopards, 1,795 tigers and 1,950 lions in future. There is also a plan to keep butterflies of more than 10 thousand species.

Zoo Safari has been made in 191 hectares from 177 crores. All the structures of the safari have been considered better by the Central Zoo Authority of India. From the maintenance of animals to their breeding arrangements, permission has been given to bring animals only after checking. Here lions, tigers, cheetahs, bears, deer and other animals will be seen roaming in the open. Whereas, the tourists will be in armored vehicles. The biggest feature of the safari is that its bird’s eye view is like the state bird sparrow.

This is the country’s most beautiful, unique safari that attracts tourists. A sky zone is also being built here. Standing there, tourists will be thrilled to see the panoramic view of the entire safari. The butterfly house to be built here is the first in the country.

बड़ी खबर मनोरंजन वायरल न्यूज़