स्पेशल रिपोर्ट: DEVRAJ KAUSHIK

पंचकुला_चंडीगढ़: एचएनआर : हरियाणा के पंचकूला में महिला अधिकारी की गाड़ी के रेड लाइट जंप करने और होमगार्ड के उसे रोकने का मामला बड़ा हो गया है। अधिकारी की गाड़ी रोकने पर लाइन हाजिर करने से नाराज होकर होमगार्ड ने गुरुवार को जहरीला पदार्थ खा लिया। होमगार्ड जवान ने महिला अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। इस पूरे मामले पर महिला अधिकारी ने भी सफाई दी है। वहीं मामले से जुड़ा एक वीडियो भी सामने आया है।
दरअसल पूरा मामला 17 जुलाई का है जहां माजरी चौक पर एक गाड़ी ने रेड सिग्नल जंप किया। यह देख वहां तैनात होमगार्ड पीयूष कुमार ने गाड़ी को रोक लिया। होमगार्ड के मुताबिक, गाड़ी में से उतरी महिला ने होमगार्ड से मोबाइल छीनने की कोशिश की। इस वाकये के बाद होमगार्ड पीयूष कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया। बिना जांच की गई कार्रवाई से आहत होकर होमगार्ड ने गुरुवार को जहर खा लिया।
हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने मामले का कड़ा संज्ञान लेते हुए उच्च अधिकारियों को निष्पक्ष जांच के आदेश दिए हैं। दूसरी ओर,पुलिस ने महिला अधिकारी के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया है।
वीडियो बना रहा होमगार्ड जवान पीयूष, गाड़ी को दिखाते हुए कह रहा है कि इस गाड़ी को मैंने रुकने का इशारा किया था , लेकिन गाड़ी चला रहा व्यक्ति रुका नहीं। गाड़ी के अंदर लेडिज अफसर बैठी हुईं हैं, उन्होंने मुझे धमकी दी कि मैं तुम्हें देख लूंगी और आईएएस अफसरों से बात कर लूंगी।
मोबाइल छीनने की कोशिश करती हुईं दिखीं महिला अफसर
वहीं वीडियो बना रहे जवान से महिला मोबाइल छीनने का प्रयास करती हुईं दिखाई दे रही हैं। वीडियो में होमगार्ड कई बार फोन छीनने की गुहार लगाते हुए दिखाई दे रहा है। वहीं जवान कह रहा है कि अगर उसकी नौकरी पर कुछ भी होता है तो इसके लिए यही जिम्मेदारी होंगे।
महिला अफसर ने दी सफाई
वहीं पूरे मामले पर महिला अफसर ने भी फेसबुक पर पोस्ट लिखकर सफाई दी है। महिला अफसर पनवीर सैनी ने लिखा है कि मुझ पर होमगार्ड को उसकी ड्यूटी करने से रोकने के आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने लिखा कि उन्होंने 18 जुलाई को होमगार्ड द्वारा गलत बर्ताव के लिए पुलिस से शिकायत की थी।
महिला अफसर ने होमगार्ड पर लगाया बदसलूकी का आरोप
महिला अफसर के मुताबिक 17 जुलाई को वह त्रषिकेश से ड्यूटी के सिलसिले में लौट रहीं थीं, तभी होमगार्ड ने गाड़ी रोकी, गाड़ी मेरे पति चला रहे थे, जबकि सिग्नल लाइट काम नहीं कर रहीं थीं। हमने गाड़ी रोककर अपनी गलती जाननी चाही, तभी होमगार्ड ने मेरे पति को अपशब्द कहने शुरू कर दिए। महिला अफसर के मुताबिक उसने चालान करने की जगह मुझे भी अपशब्द कहना शुरू कर दिया।
महिला अफसर ने तब अपना आईडी कार्ड दिखाया और कहा कि हमने कोई सिग्नल नहीं तोड़ा है, तभी होमगार्ड मोबाइल से वीडियो बनाने लगा। सोशल मीडियो पर सिर्फ आधी कहानी बताई जाने लगी। महिला अफसर का कहना है कि वह होमगार्ड के खिलाफ शिकायत नहीं दर्ज करातीं अगर उसने उनसे ठीक से बात या व्यवहार किया होता। उन्होंने कहा कि बिना पूरी सच्चाई जाने वायरल वीडियो पर भरोसा न किया जाए

क्राइम