राजस्थान में बढ रहे दलित अत्याचार के सम्बन्ध मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी आसींद को दिया ज्ञापन

अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों पर व उनके पूर्वजों की समाधियों पर हो रहे अत्याचार को लेकर मुख्यमंत्री को भेजा

भारतीय मेघवाल युवासंघ जिला भीलवाड़ा के जिलाध्यक्ष राहुल देव एवं बहुजन मुक्ति मोर्चा केनेतृत्व में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों पर व उनके पूर्वजों की समाधियों पर हो रहे अत्याचार को लेकर मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी आसीन्द जिला भीलवाड़ा को ज्ञापन सौंपा।
जिलाध्यक्ष राहुल देव ने बताया कि बाड़मेर जिले में मेघवाल समाज अनुसूचित जाति के पूर्वजों की समाधियों के उपर स्वर्ण जाति के लोगां द्वारा तोड़ फोड़ करके समाधि को क्षतिग्रस्त कर बिखेरते हुए जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करके समाज में द्वेषता फैलाने, माण्डलगढ़ में बलाई जाति के व्यकित के उपर बकरी चोरी का आरोप लगाकर मोहन बलाई को प्रताड़ित करके गंभीर मारपीट करने, भीलवाड़ा जिले के रायपुर तहसील के नान्दशा गांव में सरपंच पति रामचन्द के उपर राजपूत समाज के व्यक्तियों द्वारा मारपीट करके जातिसूचक शब्दों से प्रताड़ित करने, भीलवाड़ा जिले के आसीन्द के गोविन्दपुरा गांव के मुकेश खटीक के उपर शराब माफियों द्वारा जबरन शराब बेचने का दबाव डालने एवं इंकार करने पर अपहरण करके शराब के गोदाम पर ले जाकर लाठियों व सरियों से बेरहमी से मारपीट करने आदि मामलों पर उचित कार्यवाही की मांग ज्ञापन में की गई।
ज्ञापन देने वालों में रतनलाल मेघवंशी नोला का खेड़ा, प्रकाश मेघवंशी शंभूगढ़, प्रकाश चन्द्र बलाई आसीन्द, एडवोकेट राजमल मेघवंशी करजालिया, रामसुख मेघवंशी आमेसर, अरविन्द मेघवंशी बराणा, संदीप चावला , संजय खटीक, पिन्टू खटीक, हैप्पी ए.आर.बुनकर,आर्यन देव प्रताप सिंह मेघवंशी , सहित बहुजन समाज के सैकड़ों की संख्या लोगों उपस्थित थे।

देश विदेश बड़ी खबर राजनीति