हरियाणा,पीएमएमवीवाई घोटाला, डीजीपी तलब;

पंचकुला_चंडीगढ़: एचएनआर : प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) घोटाले की धीमी जांच पर कड़ा संज्ञान लेते हुए पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने हरियाणा के डीजीपी को तलब कर लिया है। हाईकोर्ट ने कहा कि अक्सर वंचित वर्ग के सामाजिक उत्थान की योजना का लाभ प्रभावशाली लोग हड़प लेते हैं।
हिसार निवासी देवराज ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए पीएमएमवीवाई घोटाले में नियमित जमानत की मांग को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। पीएमएमवीवाई घोटाले की शिकायत के बाद जब जांच हुई तो नारनौंद में फर्जीवाडे़ के 628 मामले सामने आए थे। इस मामले में याची भी आरोपी था और नियमित जमानत की मांग को लेकर हाईकोर्ट पहुंचा था। हाईकोर्ट ने इस मामले की जांच में देरी पर जवाब मांगा तो एसपी ने बताया कि देरी का बड़ा कारण बैंकिंग संस्थाओं के असहयोग और लाभार्थियों का दूसरे राज्यों से संबंधित होना है। हाईकोर्ट ने कहा कि यह मामला समाज के उत्थान के लिए बनाई गई योजना से जुड़ा है। अक्सर इन योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों को नही मिल पाता क्योंकि प्रभावशाली लोग इसे हड़प लेते हैं। ऐसे में यह जरूरी हो गया है कि डीजीपी को इसके लिए आवश्यक निर्देश दिए जाएं। हाईकोर्ट ने अब अगली सुनवाई पर डीजीपी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेश होने का आदेश दिया है।

क्राइम