: एचएनआर : यमुनानगर में एक शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां पर एक कुंवारी लड़की ने शौचालय में बच्चे को जन्म दिया और उसके बाद नवजात को शौचालय की छत पर रख दिया जिससे नवजात सारी रात भीगता रहा।
जानकारी के मुताबिक यमुनानगर के मुखर्जी पार्क की यह घटना है। युवती ने रात के समय खुद ही डिलीवरी कराई। इसके बाद नवजात बेटे को शौचालय की छत पर रख दिया और खुद बेहोश हो गई।
सुबह युवती की नानी बेहोशी की हालत में लड़की को अस्पताल लेकर पहुंची थी। अस्पताल में जब चेकअप किया तो पता चला कि युवती की डिलीवरी हुई है।
इस घटना के बाद जब लोगों ने आसपास और शौचालय की छत्त पर देखा तो नवजात शौचालय की छत पर मिला। वह रातभर बारिश में भीगता रहा। हालांकि बच्चे की हालत ठीक है। इसके बाद अस्पताल प्रशासन ने बच्चे को चंडीगढ़ रेफर कर दिया है।
चाइल्ड हेल्पलाइन की निदेशिका डा. अंजू बाजपेयी ने बताया यह युवती छोटी लाइन पर अपने माता-पिता के साथ रहती है। वह रविवार शाम को मुखर्जी पार्क में अपनी नानी के घर पर आ गई थी।
मां-बेटे का जब सुबह पता चला तो पुलिस ने उसकी नानी, मां, भाई को मौके पर बुला लिया। उनसे पूछताछ की। परिजनों के मुताबिक युवती की उम्र 18 साल से अधिक है। वह उम्र संबंधित कोई दस्तावेज नहीं दिखा सके।
उधर डा. अंजू बाजपेयी के मुताबिक बच्चे की मां देखने में नाबालिग लग रही है। दोपहर को युवती की नानी, मां, बहन समेत पूरा परिवार लापता हो गया। कार्रवाई के डर से वह अपने घरों को ताला लगाकर कहीं चले गए।
मामले की जांच कर रहे थाना शहर जगाधरी के एएसआइ राजेंद्र ने बताया की प्राथमिक जांच में यह सामने आया है कि युवती ने इस बच्चे को जन्म देने के बाद मरने के लिए लावारिश छोड़ दिया। बच्चे को पीजीआई रेफर कर दिया गया है।

क्राइम