एक ऐसे एग्रीमेंट की कॉपी हाथ लगी है, जो लडकियां वीडियो शूट करने से मना करतीं, उनके साथ क्या करते थे ये लोग,

एक ऐसे एग्रीमेंट की कॉपी हाथ लगी है, जो लडकियां वीडियो शूट करने से मना करतीं, उनके साथ क्या करते थे ये लोग,

Special report: DEVRAJ KAUSHIK

: एचएनआर : मुंबई, लड़कियों से पॉर्न वीडियो शूट करवाने वाले एग्रीमेंट में क्या लिखवाते हैं राज कुंद्रा जैसे लोग,
”मैं फिल्म के लिए अंतरंग और कामुक दृश्य, होठों पर चूमना, कमर से ऊपर और पूरी तरह नग्न सीन्स करने की सहमति देने की घोषणा करती हूं. ये सीन्स मैं अपनी मर्ज़ी से कर रही हूं. प्रोडक्शन हाउस के दबाव में आकर नहीं.”
ये लाइनें उस एग्रीमेंट का हिस्सा है, जो राज कुंद्रा समेत पोर्नोग्रफी रैकेट में धरे गए तमाम लोग लड़कियों से साइन करवाते थे. राज कुंद्रा बड़ा नाम है, इसलिए उनकी चर्चा हर ओर हो रही है. मगर इस रैकेट के भांडाफोड़ के बाद पुलिस के हाथ कई छोटी मछलियां भी लगी हैं. इन सब लोगों में एक चीज़ कॉमन है. वो ये कि इन लोगों ने एक्टर बनने की चाहत रखने वाली लड़कियों को बहलाकर या धमकाकर पोर्नोग्रफी के बिज़नेस में उतारा है.
लड़कियों से पॉर्न वीडियो शूट करवाने से पहले जो कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाया जाता था, उसकी एक कॉपी इंडिया टुडे को मिली है. इस एग्रीमेंट में क्या लिखा है, उसका हिंदी तर्जुमा हम आपको शब्दश: आगे पढ़वा रहे हैं –
”मुझे इस बात की खुशी है कि आपने मुझे फ्लिज़ मूवीज़ बैनर के तले बन रही वेब सीरीज़ … जो कि दुनिया के एक बड़े ओटीटी प्लैटफॉर्म पर रिलीज़ होनी है, उसके लिए 10 हज़ार रुपए के पैकेज पर बतौर आर्टिस्ट साइन किया. डिस्कशन के मुताबिक उसकी शूटिंग …. तारीख को होनी है. मैं इस फिल्म के लिए अंतरंग और कामुक दृश्य, होठों पर चूमना, कमर से ऊपर और पूरी तरह से नग्न सीन्स करने की सहमति देने की घोषणा करती हूं. मैं सहमति देती हूं कि ये सीन्स मैं अपनी मर्ज़ी से कर रही हूं. प्रोडक्शन हाउस के दबाव में आकर नहीं. मैं स्पष्ट करती हूं कि प्रोडक्शन हाउस द्वारा मेरे कामुक/अंतरंग/अर्धनग्न या नग्न सीन्स किसी फिल्म, वेबसाइट या ओटीटी पर इस्तेमाल करने से मुझे कोई आपत्ति नहीं है. मैं इस बारे में उनके खिलाफ कोई शिकायत नहीं करुँगी. धन्यवाद”
पोर्नोग्रफी वीडियोज़ की शूटिंग से पहले लड़कियों से साइन करवाए जाने वाले कॉन्ट्रैक्ट की कॉपी.
पोर्नोग्रफी वीडियोज़ की शूटिंग से पहले लड़कियों से साइन करवाए जाने वाले कॉन्ट्रैक्ट की कॉपी.
दिलचस्प बात ये कि इस कॉन्ट्रैक्ट में किसी फिल्म के नाम या प्रोडक्शन कंपनी के रजिस्ट्रेशन नंबर का ज़िक्र नहीं है. जो रकम लड़कियों को अदा करने की बात इस कॉन्ट्रैक्ट में लिखी है, वो वीडियो से आने वाली कमाई के लिहाज़ से बेहद कम है. पुलिस के मुताबिक़ इस कॉन्ट्रैक्ट को साइन करन के बाद जो लड़की अंग प्रदर्शन से इन्कार करती, उसे धमकाया जाता. उनसे ये कहा जाता कि अगर आप ये वीडियो शूट नहीं करेंगी, तो शूटिंग की तैयारी में लगा सारा खर्च आपको उठाना होगा.
हालांकि ये एग्रीमेंट राज कुंद्रा की कंपनी का नहीं है. मगर इसे देखकर ये अंदाज़ा लगाना मुश्किल नहीं है कि उनकी कंपनी का कॉन्ट्रैक्ट भी इससे कुछ खास अलग नहीं होता होगा. दूसरी बात ये कि राज कुंद्रा की कंपनी कई अन्य कंपनियों से पॉर्न वीडियो खरीदकर यूके भेजती थी. जहां से इसे हॉटशॉट्स ऐप पर अपलोड किया जाता था. हॉटशॉट्स पर मौजूद पॉर्नोग्राफिक कॉन्टेंट देखने के लिए दर्शकों को बाकायदा सब्सक्रिप्शन लेनी पड़ता था. कई रिपोर्ट्स में बताया गया कि इस तरह के ओटीटी प्लैटफॉर्म्स का सब्सक्रिप्शन बेस लाखों में होता था. ऐप पर अपलोड किए प्रति वीडियो से उसके मेकर्स 2-3 लाख रुपए कमाते थे. जबकि उस वीडियो में नज़र आ रही लड़कियों को 10-20 हज़ार रुपए देकर छुट्टी कर दी जाती थी.

क्राइम