आमचो बस्तर टूरिज़्म के कार्य को पूरा करने के लिए किए जा रहे युद्ध स्तर पर कार्य

 

*आमचो बस्तर टूरिज्म के कार्य को पूरा करने के लिए किए जा रहे युद्ध स्तर पर कार्य*

*कलेक्टर ने व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने होटल संचालक की ली बैठक*

जगदलपुर- अपने अनुपम प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण बस्तर जिले में ईको टूरिज्म की परिकल्पना को साकार करने हेतु जिला प्रशासन द्वारा आमचो बस्तर टूरिज्म के कार्य को पूरा करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किए जा रहे हैं। जिससे की मनोरम एवं आकर्षक पर्यटन क्षेत्रों से युक्त बस्तर जिले में शीघ्र ही सैलानी यहां की प्राकृतिक सुंदरता, आदिम संस्कृति के साथ-साथ पर्यटन का भी लुत्फ उठा सकें। इस कार्य को पूरा करने के लिए कलेक्टर  रजत बंसल के निर्देशानुसार जिला प्रशासन एवं पर्यटन विभाग द्वारा द्रुत गति से कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर  रजत बंसल ने इस कार्य में होटल संचालकों की सहभागीता सुनिश्चित करने हेतु आज 22 जुलाई को कलेक्टोरेट जगदलपुर के प्रेरणा कक्ष में शहर के होटल संचालकों की बैठक लेकर इस कार्य को आगे बढ़ाने हेतु जरूरी सुझाव लिए। कलेक्टर ने कहा कि जिले में पर्यटन को बढ़ावा देने तथा पर्यटकों को जरूरी सुविधाओं के अलावा पर्यटन क्षेत्र के संबंध में आवश्यक जानकारी प्रदान करने में होटल संचालकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। कलेक्टर ने कहा कि बस्तर की संस्कृति को बढ़ावा देने के अलावा स्थानीय लोगों को अधिक से अधिक स्वरोजगार से प्रदान ही ईको टूरिज्म का आधार भूत सिद्धांत है।

उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से आदिवासी संस्कृति को सुरक्षित रखने तथा स्थानीय चिजों को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाएगा। इसके लिए जिले के पर्यटन क्षेत्रों में स्थानीय व्यजनों की उपलब्धता को अनिवार्य रूप से शामिल किया जा रहा है।
बैठक में कलेक्टर ने जिले के समीप में स्थित पड़ोसी राज्य उड़ीसा, आन्ध्र प्रदेश एवं तेंलगाना के प्रमुख पर्यटन स्थल एवं शहरों में बस्तर केे पर्यटन की जानकारी हेतु प्रचार-प्रसार की समुचित व्यवस्था करने की जानकारी दी। जिससे की इन स्थानों में भ्रमण हेतु आने वाले पर्यटक बस्तर जिले में भी आ सकंे। इस संबंध में उन्होंने इन राज्यों के पर्यटन बोर्ड के प्रबंध निदेशकों से भी चर्चा करने की बात कही। कलेक्टर ने पर्यटकों को ट्रासपोर्ट एवं लाजिंग की उत्तम सुविधा प्रदान करने में होटल संचालकों को सहयोग प्रदान करने को कहा। इसके अलावा उन्होंने होटलों में पर्यटकों के लिए स्थानीय उत्पादों एवं सामग्रियों की भी व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि पर्यटन कारीडोर में शामिल जगदलपुर शहर के दलपत सागर एवं अन्य स्थानों में सुविधाएं बढ़ाई जा रही है।  बंसल ने बैठक में उपस्थित होटल संचालकों से इस कार्य को बेहतर बनाने हेतु सुझाव भी लिए एवं जरूरी सुझावों पर अमल करने की बात कही। बैठक में जिला पंचायत के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी  कैलाश कोड़ोपी एवं होटल संचालक उपस्थित थे।

प्रदेश