Hryana Congress: अगले नौ माह तक नहीं अध्‍यक्ष पद से हटेंगी सैलजा, संगठन में दिखेगी हुड्डा की पसंद।

Hryana Congress: अगले नौ माह तक नहीं अध्‍यक्ष पद से हटेंगी सैलजा, संगठन में दिखेगी हुड्डा की पसंद।

पंचकुला_चंडीगढ़: एचएनआर: Haryana Congress Dispute: हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बीच चल रही तनातनी का कोई खास नतीजा निकलकर सामने नहीं आया है। हाईकमान से साफ संकेत हैं कि हुड्डा समर्थक विधायकों के विरोध के बावजूद कुमारी सैलजा कम से कम अगले नौ महीने तक अध्यक्ष पद पर बनी रहेंगह। पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनाव नतीजों से पहले कांग्रेस हाईकमान हरियाणा में किसी तरह के बदलाव के मूड में नहीं हैं। इन दोनों राज्यों में अगले साल फरवरी में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं, जबकि हरियाणा के चुनाव 2024 में होने हैं। तब तक अध्यक्ष को बदलने का हुड्डा समर्थक विधायकों का दबाव मानने से कांग्रेस हाईकमान ने इन्कार कर दिया है।
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा समर्थक 25 विधायकों ने कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल और कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात कर मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा को पद से हटाने की मुहिम शुरू की थी। हरियाणा में पिछले आठ साल से कांग्रेस का संगठन नहीं बन पाया है। हुड्डा समर्थक फूलचंद मुलाना जब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष थे, तब से लेकर अशोक तंवर और कुमारी सैलजा के कार्यकाल में तक संगठन न खड़ा होने की वजह से कार्यकर्ता भी मायूस हैं। हालांकि संगठन नहीं बन पाने के पीछे हुड्डा, सैलजा, सुरजेवाला, किरण, कुलदीप और कैप्टन अजय की अपनी-अपनी अलग ही राजनीति है, लेकिन अध्यक्ष के नाते सैलजा संगठन बनाने की अपनी जिम्मेदारी से मुंह नहीं मोड़ सकती।

राजनीति