आगरा में स्नान के दौरान गंगा में 12 लोग डूबे 7 की मौत दो लापता तलाश जारी

  अयोध्या्य्या््या्य्या्या्य्््य्या्य्या््या्य्या्या्य््

*अयोध्या में दु:खद घटना: सरयू में स्नान करते डूबे, आगरा के 12 लोग में सात की मौत, अभी 2 दो लापता, तलाश जारी

उत्तर प्रदेश प्रयागराज से सतीश चंद्र की रिपोर्ट

 

अयोध्या में शुक्रवार दोपहर सरयू में नहाने के दौरान डूबे 15 में से 2 लोग अभी भी लापता हैं। शनिवार की दोपहर 16 साल की प्रियांशी का शव हादसा वाली जगह से दो किमी दूर बाटी बाबा आश्रम के मिला है। इसके बाद इस हादसे में मृतकों की संख्या 7 हो गई है। मृतकों में दो महिलाएं, दो पुरुष और तीन बच्चे शामिल हैं। बाकी 6 लोगों को बचा लिया गया था। इनमें से तीन को अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। सभी एक ही परिवार के रहने वाले थे और रामलला के दर्शन करने के लिए आगरा से अयोध्या आए थे।

 

यह हादसा यहां गुप्तार घाट पर दोपहर डेढ़ बजे हुआ था। तब से NDRF के 60 जवान, SDRF के 40 जवानों के अलावा जल पुलिस और स्थानीय गोताखोर हादसे में डूबे लोगों को खोज रहे हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन को 23 घंटे हो चुके हैं।

 

सिकंदरा थानाक्षेत्र के शास्त्रीपुरम निवासी अशोक पुत्र नेमीचंद ( 65) अपनी पत्नी राजकुमारी ( 61) पुत्र ललित (40) व पंकज (25), पुत्री जूली (29) व गौरी (28) समेत अपने शादी-शुदा तीन बेटियों, पांच बच्चों व एक दामाद के साथ अयोध्या शुक्रवार सुबह ही आए थे। दर्शन-पूजन के बाद रामनगरी के नया घाट से एक स्टीमर पांच हजार में बुक करके करीब 12 किलोमीटर दूर गुप्तार घाट आए। यहां घाट पर टहलते हुए करीब दो सौ मीटर दूर सूनसान इलाके के कच्चा घाट पर चले गए। जहां पहले चार महिलाएं हाथ-पैर धोने नदी में गईं, देखते ही देखते बच्चे व पुरुष सदस्य भी पानी में आ गए। जूली का पैर फिसला और उफनाई सरयू की तेज धारा में बहने लगी। बचाने में चार महिलाएं भी धारा में समाने लगीं। अफरातफरी में मासूम धैर्या (6) पुत्री ललित समेत एक-एक कर 12 लोग बह गए। अशोक, उनका दामाद सतीश पुत्र जगमोहन (40) व नमन पुत्र उसरा (12) बाहर निकले और शोर मचाना शुरू किया।दौड़कर गुप्तारघाट आकर मदद मांगी, तो तत्काल नाविक व गोताखोर मौके पर पहुंचे और पुलिस व प्रशासन को खबर दी गई। सूचना पर आईजी डॉ. संजीव गुप्त, डीएम अनुज झा, एसएसपी शैलेश पांडेय, एसपी सिटी विजयपाल सिंह समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और हादसे की जानकारी ली। एसएसपी ने स्वयं स्टीमर पर सवार होकर लापता लोगों की तलाश की। तत्काल रेस्क्यू टीम ने आरती पत्नी सतीश (35) और गौरी पुत्री अशोक (28) को नदी से जिंदा निकाल लिया। मासूम धैर्या जमथरा कच्चाघाट पर लहरों के थपेड़ों के बीच बचकर किनारे मिली।

प्रदेश बड़ी खबर