सत्रह अतिपिछड़ी जातियों ने बैठक कर अनुसूचित जाति की सुबिधा देने की मांग उठाई

हिम्मत सिंह प्रजापति
बरहज — देवरिया। स्थानीय विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत स्थित सत्रह अतिपिछड़ी जातियों के प्रतिनिधियों की एक आवश्यक बैठक नगर के राजनगर में हुई जिसकी अध्यक्षता कटेश्वर प्रसाद राजभर ने की । बैठक को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय प्रजापति कुम्भकार महासंघ उत्तर प्रदेश पूर्वी जोन के अध्यक्ष रामबिलास प्रजापति ने कहा कि सत्रह अतिपिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति की सुबिधा देने की हमारी मांग दशकों पुरानी है।इस संदर्भ में पूर्व की सरकारों सहित योगी सरकार ने भी अपनी संस्तुति केन्द्र सरकार को भेजी तथा प्रदेश के जिलाधिकारियों को भी कहार,कश्यप, प्रजापति,बिन्द, मल्लाह,भर , राजभर आदि सत्रह जातियों को अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी करने का निर्देश दिया किन्तु सरकार का यह निर्देश हवा हवाई साबित हुआ तथा इन्हें प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया।
इस अवसर पर राजभर महासंघ के राष्ट्रीय संरक्षक कटेश्वर प्रसाद ने कहा कि इन जातियों की आर्थिक, सामाजिक और शैक्षिक स्थिति अनुसूचित जातियों के समकक्ष है और सरकार तथा विभिन्न सरकारी संस्थाओं द्वारा इन्हें अनुसूचित जाति की सुबिधा देने हेतु परिभाषित भी किया गया है अतःइन जातियों को शीघ्र अनुसूचित जाति की सुबिधा मुहैया कराई जानी चाहिए । उन्होंने कहा कि हम सरकारी आश्वासनों से अधीर हो गये है। समाजसेवी वह क्रांतिकारी नेता राजेश कुमार निषाद ने कहा कि हम आश्वासन की घुट्टी नहीं पीना चाहते हैं । हमारी मांग हरहाल में पूरी होनी चाहिए। बैठक में मुक्तिनाथ साहनी, छत्रसाल निषाद, मोहन प्रसाद,, विजय कुमार, राजेश्वर साहनी,रामरुदल प्रजापति, सीताराम प्रजापति , हिम्मत सिंह प्रजापति, संजय प्रजापति आदि उपस्थित थे।

राजनीति