मध्येपुर के पंचायत भवन में लगा वैक्सीनेशन का कैंप ग्रामीण जनों में दिखा उत्साह : डोज की कमी

मध्येपुर के पंचायत भवन में लगा वैक्सीनेशन का कैंप ग्रामीण जनों में दिखा उत्साह : डोज की कमी

_▪️वैक्सीनेशन केंद्र मध्येपुर में डोज सिर्फ 100 लोगों का और लोगों की भीड़ हजारों में_
_▪️दिन भर लाइनों पर अपनी बारी का करते रहे इंतजार वैक्सीन की कमी के चलते लोगों को निराशा लगी हाथ बिना वैक्सीन लगवाए ही लौटना पड़ा घर_


_▪️वैक्सीनेशन के उत्साह में लोगों ने सोशल डिस्टेंस की उड़ाई धज्जियां_
*🔥रीवा:-* जनपद क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत मध्येपुर में एकदिवसीय वैक्सीनेशन का कैंप लगाया गया, जहां पर वैक्सीन के सिर्फ 100 डोज दिए गए, आपको बता दें कि वैक्सीनेशन के कैंप लगाने को लेकर ग्रामीण जनों को ग्राम पंचायत के सरपंच हेमराज सिंह के द्वारा सूचित किया गया था, कि कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी की तीसरी लहर से अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा के लिए कोविड-19 का टीका लगाने पंचायत भवन में कैंप लगाया जा रहा है जहां पर ज्यादा से ज्यादा लोग पहुंच कर वैक्सीनेशन करवाएं और अपने आप को सुरक्षित करें, जिसके चलते ग्रामीण जनों ने सुबह से ही ग्राम पंचायत के पंचायत भवन पर वैक्सीन लगवाने को लेकर इकट्ठा होने लगे और वैक्सीनेशन का कार्य जैसे ही प्रारंभ हुआ तो लोग कतार बद्ध होकर लाइनों में खड़े अपनी बारी का इंतजार करते रहे, 

 शुरू के लगभग 100 लोग वैक्सीन लगवा कर अपने-अपने घर चले गए, लेकिन वहां पर हजारों की संख्या में खड़े भूखे प्यासे लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे, लेकिन ना जाने खुदा को क्या मंजूर और हद तो तब हो जाती है, जब लोगों का आधार कार्ड लेकर वेरीफाइड कर रही सी एच ओ पूनम पांडे के द्वारा लोगों को यह कहकर घर लौटा दिया गया, कि वैक्सीन समाप्त हो गई है। अब जब किसी दिन कैंप लगेगा तब आप लोगों को वैक्सीन लगेगा, जबकि आपको बता दें कि लोगों में वैक्सीन लगवाने को लेकर काफी उत्साह देखने को मिल रहा था, लेकिन अंततः 100 लोगों के अलावा अन्य हजारों लोगों को निराशा हाथ लगी और बिना वैक्सीन लगवाए ही अपने अपने घर को लौटना पड़ा, साथ ही कई लोगों में शिवराज सरकार के प्रति भारी आक्रोश देखने को मिला, तो वहीं वैक्सीनेशन के सफल आयोजन को लेकर ग्राम पंचायत के सरपंच हेमराज सिंह ने ग्रामीणों को सूचित कर वैक्सीनेशन कैंप के पास पहुंचने वाले लोगों को इस भीषण गर्मी में पानी की व्यवस्था व मास्क वितरित कर शांतिपूर्ण ढंग से वैक्सीनेशन करवाने को प्रेरित किया गया। तो वहीं के इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की ओर से सी एच ओ पूनम पांडे, स्टाफ नर्स सुनीता साकेत, नम्रता अश्वले, आशा सुपरवाइजर सरिता तिवारी, प्रमोद कुमार पांडे एवं एवीडी योगेंद्र प्रसाद द्विवेदी लोगों के बीच जाकर अपनी सेवाएं देकर सरकार की मंशा को सफल बनाने का कार्य कर रहे हैं।
*वैक्सीनेशन को लेकर ग्रामीण युवा एकता संघ के अध्यक्ष ने शिवराज सरकार पर कसा तंज*
तो वहीं दूसरी ओर ग्रामीण युवा एकता संघ के अध्यक्ष धीरू सिंह ने भाजपा की शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि एक तरफ शिव सरकार ग्राम पंचायतों में कैंप लगाकर शत प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने का दावा कर रही है, तो वहीं दूसरी ओर ग्राम पंचायतों में खानापूर्ति के लिए 100 डोज देकर वैक्सीनेशन का कैंप लगाया जा रहा है, और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारी यह हवाला देकर पल्ला झाड़ लेते हैं, कि सरकार के पास वैक्सीन ही नहीं है, तो हम क्या करें आखिरकार यह सोचने वाली बात है, कि 1000 से ऊपर आबादी होने पर एक ग्राम पंचायत का गठन होता है, और उस ग्राम पंचायत में वैक्सीन के 100 डोज दिये जाए, तो उस ग्राम पंचायत में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कैसे हो पाएगा। साथ ही श्री सिंह ने कहा कि जब सरकार के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन नहीं है, तो फिर मुख्यमंत्री व गृहमंत्री झूठे वादे ना करें, और गांवों में कैंप लगाकर खानापूर्ति करके लोगों का मजाक ना उड़ाए, जब सरकार के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन हो तब ही ग्राम पंचायत में कैंप लगवाएं और शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करवाएं।

Uncategorized