गाजीपुर बार्डर पर किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच बुधवार को हुई भिड़ंत

गाजीपुर बार्डर पर किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच बुधवार को हुई भिड़ंत

गाजीपुर बार्डर पर किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच बुधवार को भिड़ंत हो गई।

बताया जा रहा है कि भाजपा कार्यकर्ता नवनियुक्त प्रदेश मंत्री अमित वाल्मीकि का स्‍वागत करने वहां पहुंचे थे लेकिन उसी दौरान बवाल शुरू हो गया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने किसानों पर तोड़फोड़, हंगामे और पथराव का आरोप लगाया है। उधर किसान नेता राकेश टिकैत ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर किसानों के मंच पर कब्‍जा करने का आरोप लगाया और कहा कि पिछले तीन दिन से यहां पुलिस के संरक्षण में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश की जा रही थी।

टिकैत ने यहां तक कहा कि कोई मंच पर कब्जा करने की कोशिश करेगा तो बक्कल उतार देंगे। उनको आना है तो बीजेपी छोड़ कर आ जायें। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता पिछले तीन दिन से आ रहे हैं। पुलिस उन्हें संरक्षण दे रही है। पुलिस गुंडई छोड़ दे। बीजेपी की वर्कर न बने।

बताया जा रहा है कि किसानों और भाजपा समर्थकों के बीच बवाल के बाद हालात इतने खराब हो गए कि भाजपा नेता की गाड़ी को निकालने के लिए पुलिस को काफी मशक्‍कत करनी पड़ी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के अवसर पर देश के चिकित्सा जगत से जुड़े लोगों को संबोधित करेंगे।
भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत को अपने सभी चिकित्सकों के प्रयासों पर गर्व है। एक जुलाई को राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया जाता है। कल तीन बजे भारतीय चिकित्सा संघ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में चिकित्सक समुदाय को संबोधित करूंगा।

हर साल एक जुलाई को देश भर में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया जाता है। इसी दिन देश के महान चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डॉक्टर बिधानचंद्र रॉय का जन्मदिन और पुण्यतिथि होती है। यह दिन उन्हीं की याद में मनाया जाता है।

बीपीएससी 65वीं मुख्य परीक्षा का रिजल्ट घोषित, 1142 परिक्षार्थी सफल

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) ने 65वी मुख्य परीक्षा रिजल्ट घोषित कर दिया है। इस परीक्षा में करीब 1142 परिक्षार्थी सफल हुए हैं। मुख्य परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों के लिए अगल चरण की परीक्षा साक्षात्कार का आयोजन जुलाई के अंतिम सप्ताह में होगा। बीपीएससी 65वीं परीक्षा में भाग लेने वाले अभ्यर्थी अपना रिजल्ट आयोग की वेबसाइट www.bpsc.bih.nic.in पर जाकर चेक कर सकते हैं।

साक्षात्कार में भाग लेने के पहले अभ्यर्थियों को आवेदन जमा कराना होगा। बीपीएससी 65वी परीक्षा के जरिए 14 विभागों में करीब 423 पदों पर नियुक्ति की जाएगी। यह जानकारी आयोग के सयुंक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेन्द्र कुमार ने दी।

65वीं बीपीएससी के सफल अभ्यर्थियों का साक्षात्कार जुलाई 2021 के अंतिम सप्ताह में संभवित है। साक्षात्कार के बाद 65वीं बीपीएससी का अंतिम परीक्षाफल सितंबर में जारी किया जा सकता है।

विभागवार रिक्तियों का विवरण:
1- बिहार प्रशासनिक सेवा – 30 रिक्तियां
2- पुलिस उपाधीक्षक, गृह विभाग – 62
3- जिला समादेष्टा, गृह विभाग – 06
4- उत्पाद एव निबंधन विभाग – 05
5- अवर निर्वाचन पदाधिकारी, निर्वाचन विभाग – 46
6- नियोजन पदाधिकारी/जिला नियोजन पदाधिकारी, श्रम संसाधन विभाग – 09
7- जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, अल्प संख्यक कल्याण विभाग – 01
8- बिहार शिक्षा सेवा, शिक्षा विभाग – 72
9- ग्रामीण विकास पदाधिकारी, ग्रामीण विकास विभाग-110
10 – नगर कार्यपालक पदाधिकारी, नगर विकास एवं आवास विभाग – 11
11- आपूर्ति निरीक्षक, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग – 19
12 – प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी, पंचायती राज विभाग – 14
13- श्रम संसाधन विभाग – 20
14 – अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति कल्याण विभग – 18

कुल रिक्तियां – 423

बीपीएससी 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा के लिए 691 पदों पर नियुक्ति होनी है। इसके लिए प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम आने के बाद मुख्य परीक्षा के लिए फॉर्म भरे जा चुके है। स्कूल-कॉलेज खुलते ही मुख्य परीक्षा कराने की कवायद आरंभ हो जाएगी।

सांड को तलवार मार किया घायल
खबर देवहरा से जहाँ पर सांड को एक क्रूर व्यक्ति के द्वरा तलवार मार घायल कर दिया गया, जिसका इलाज ग्रमीणों के सहयोग से गोह चिकित्सा पदाधिकारी के द्वरा करवाया गया है। ग्रामीणों के मुताबिक जिस व्यक्ति ने सांड के ऊपर तलवार चलाया है उसका नाम मराछु पासवान है, आरोपी के खिलाफ ग्रमीणों ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है।


पटना से खुलने वाली पलामू एक्सप्रेस की ट्रक से हुई भीषण टक्कर, मौके पर मची अफरा तफरी

JEHANABAD पटना से खुलने वाली पलामू एक्सप्रेस की टक्कर ट्रक से जहानाबाद से पहले ठीक पहले को कोरोना हाल्ट पर हो गयी है.
स्थानीय लोगों ने बताया कि बगल के गांव के रहनेवाले एक व्यक्ति का ट्रक हॉल्ट पर बनी गुमटी को पार कर रहा था. उसी दौरान ट्रक फंस गया. ड्राइवर ट्रक को हॉल्ट के बीचोबीच छोड़कर फरार हो गया. बताते चलें की पटना से खुलकर बरकाकाना के लिये जानेवाली पलामू एक्सप्रेस ट्रक से टकरा गई. जोरदार टक्कर की वजह से ट्रक के परख्च्चे उड़ गए. ट्रक पलामू एक्सप्रेस के इंजन में फंस गया है. मिली जानकारी ट्रक पर अनाज था. ट्रक का नंबर AP 26Y 6543 हैं.
इस घटना के बाद मौके पर अफरा तफरी का माहौल हो गया. यात्री ट्रेन से उतर गए और मामले की जानकारी लेने लगे. इस घटना की सूचना पुलिस को दी गयी. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची. बाद में काफी मशक्कत के बाद ट्रक को इंजन से निकाल लिया गया. जिसके बाद यात्रियों की साँस में साँस आई. हालाँकि इस घटना में किसी की हताहत होने की सूचना नहीं मिली है.

मोदी कैबिनेट ने लिए बड़े फैसले; गांव, किसान से लेकर बिजली के लिए बड़े ऐलान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता में कैबिनेट (Cabinet Meeting) और कैबिनेट कमिटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स (CCEA) की मीटिंग हुई. इस मीटिंग में पॉवर डिस्ट्रिब्यूशन रिफॉर्म को मंजूरी दी गई. साथ ही देश में गांव-गांव तक इंटरनेट से जोड़ने के लिए भारत नेट प्रोजेक्ट के तहत फंड को भी मंजूरी दी गई. भारत नेट प्रोजेक्ट के लिए 19 हजार करोड़ रुपए के आवंटन को मंजूरी मिली है.

राहत पैकेज को मंजूरी

कैबिनेट मीटिंग में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के बारे में जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा, दो दिन पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड के कारण 6 लाख 28 करोड़ की मदद का जो खाका बताया था उसे आज कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, पहले की सरकारें जो घोषणा करती थीं उसे कई दिनों बाद लागू करती थीं लेकिन मोदी सरकार ने इसे जल्द लागू कर दिया.

बिजली, इंटरनेट, DAP सब्सिडी के लिए बजट

केंद्रीय मंत्री ने कहा, जून से नवंबर तक सरकार ने मुफ्त अनाज देने की घोषणा की है. इस योजना के तहत इस बार मई से नवम्बर तक 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज मिलेगा इसके लिए 93 हजार करोड़ रुपये घोषित किए गए हैं. केंद्रीय मंत्री ने बताया, DAP खाद, यूरिया का दाम नहीं बढ़े इसके लिए 14 हजार करोड़ रुपये की सब्सिडी दी गई है. गांव में ब्रॉडबैंड सुविधा के लिए 19 हजार करोड़ दिए हैं. 97 हजार करोड़ रुपये बिजली व्यवस्था के सुधार के लिए, 1 लाख 22 हजार करोड़ रूपये एक्सपोर्ट सुविधा के लिए दिए गए हैं. ये आत्मनिर्भर भारत का चौथा पैकेज है जो कि तुरंत प्रभाव से लागू होगा.

गांव-गांव पहुंचेगा इनफॉर्मेशन हाइवे

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, हर गांव तक इनफॉर्मेशन हाइवे पहुंचे उसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ऐतिहासिक फैसला लिया है. पिछले 15 अगस्त को देश के 6 लाख गावों में ऑप्टिकल ब्रॉडबैंड लाने का लक्ष्य रखा था. आज हम 1 लाख 56 हजार गावों में पहुंच चुके हैं. देश के सोलह राज्यों में भारत नेट को PPP मॉडल के तहत लागू किया है. तीस साल के लिए एग्रीमेंट कर रहे हैं, जिसमें हम पूरा नेटवर्क दे रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा, गावों में भी टेलीमेडिसिन की सुविधा जाएगी. देश के गावों में बच्चों के लिए अच्छी कोचिंग की व्यवस्था होगी. एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट होगा.

भारत नेट प्रोजेक्ट के तहत फंड को मंजूरी

देश में गांव-गांव तक इंटरनेट से जोड़ने के लिए भारत नेट प्रोजेक्ट के तहत फंड को भी मंजूरी दी गई..भारत नेट प्रोजेक्ट के लिए 19 हजार करोड़ रुपए के आवंटन को मंजूरी मिली है. बता दें कि, इस प्रोजेक्ट के जरिए सरकार देश के हर ग्राम पंचायत को ब्रॉडबैंड कनेक्शन से जोड़ रही है.


ग्राम-पंचायत तरार के ग्रामीणों को नहीं मिल रहा नल जल का लाभ

लोगों को शुद्ध पेयजल मिल सके तथा विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बच सकें इसके लिए मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत हर घर नल का जल कार्यक्रम को प्रमुखता से रखा गया है। अपने सात निश्चय योजना की घोषणा करते समय मुख्यमंत्री ने लोगों से कहा था कि जल्द ही अब हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचेगा। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के बाद गांव के लोगों में भी शुद्ध पेयजल मिलने की उम्मीद जगी। ग्रामीणों को लगने लगा था कि हर घर नल से जल मिलने पर अब शहर जैसी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएगी।

लेकिन वर्षों बीतने के बाद भी मुख्यमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना हर घर नल जल योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है। इसी के तहत दाउदनगर प्रखंड क्षेत्र के अंतर्गत तरार पंचायत स्थित वार्ड संख्या दस की है।स्थानीय ग्रामीणों के मुताबिक गांव में गड्डा खोद कर पाइप बिछाकर घर-घर पानी का कनेक्शन तो लगाया गया है मगर उसमें कई घरों में नल अभी नही लगाया गया है। पानी सप्लाई के लिए टावर निर्माण कार्य भी हो चुका है। लेकिन विडंबना ही कहा जाए कि संवेदक की लापरवाही एवं प्रखंड प्रशासन के उदासीनता के कारण आजतक पानी की सप्लाई शुरू नहीं हो सका है।

नल में नहीं आया जल, सरकारी योजना का नहीं मिला अभी तक ग्रामीणों को फल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी योजना नल का जल जिले में दम तोड़ती नजर आ रही है। इस योजना मद में सरकार द्वारा करोड़ों की सरकारी राशि पानी की तरह बहा देने के बाद भी लोगों के घरों में शुद्ध पानी नहीं पहुंच रहा है। जिस तरह से इस योजना पर पैसे बहाए गए हैं उसी तरह इस योजना का अधिकांश पानी कहीं पाइप लिक हो जाने के कारण सड़कों पर ही बह जा रहा है तो कहीं वार्ड सदस्य द्वरा काम पूरा कराए बिना ही अवैध रूप से योजना की राशि का निकासी कर लिया गया है।
मामला हसपुरा थाना क्षेत्र के धूसरि पंचायत अंतर्गत ग्राम तिलौती के वार्ड संख्या 9 की है जहाँ पर वार्ड सदस्य के द्वरा नल जल योजना का पूरा काम करवाये बिना ही चार लाख दस हजार रुपए की अवैध निकासी कर ली गई है। जिसके चलते योजना का काम पूरा नहीं हो पाया है। अधिकतर घरों में नल कनेक्शन भी अभी नहीं लग पाया है। धूसरी पंचायत के मुखिया संतोष शर्मा ने बतलाया कि इस अवैध निकासी मामले में प्रखंड पदाधिकारी को आवेदन पत्र दिया गया है और उनसे अनुरोध किया गया है कि इस मामले में जल्द से जल्द जांच कर दोषियों के खिलाफ करवाई की जाए।
इसी संबंध में ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि नल जल योजना के क्रियान्वयन के संबंध में कई बार स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित अन्य जिम्मेदार अधिकारियों को भी बताया गया है लेकिन उनके द्वारा कोई पुख्ता कार्यवाही अभी तक नहीं की गई है। ग्रामीणों द्वारा लगातार मांग किए जाने के बावजूद भी पेयजल की सुविधा मुहैया नहीं हो सकी है।

बड़ी खबर