दिल्ली मेट्रो में जल्द मिल सकती है यात्रियों को ये बड़ी सुविधा, DMRC ने लिखा लेटर.

दिल्ली मेट्रो में जल्द मिल सकती है यात्रियों को ये बड़ी सुविधा, DMRC ने लिखा लेटर.

मेट्रो स्टेशनों के बाहर लगने वाली लंबी कतारों से यात्रियों को हो रही असुविधा को देखते हुए डीएमआरसी (दिल्ली मेट्रो रेल निगम) ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को पत्र लिखकर मेट्रो में खड़े होकर सफर शुरू करने की इजाजत मांगी है। डीएमआरसी ने पत्र में कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा मेट्रो में सफर के लिए बनाए गए मानक के तहत शारीरिक दूसरी के साथ यात्रियों को खड़े होकर सफर करने की स्वीकृति दी जाए। डीएमआरसी द्वारा पत्र लिखे 12 दिन हो चुके हैं, लेकिन उसे अभी स्वीकृति मिलने का इंतजार है। उम्मीद है कि एक-दो दिन में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण से स्वीकृति मिल जाएगी। इसलिए जल्द ही मेट्रो में शारीरिक दूरी के साथ यात्रियों के खड़े होकर सफर की सुविधा शुरू हो जाएगी।

असल क्षमता की तुलना में सिर्फ 10 फीसद लोग कर रहे सफर

डीएमआरसी ने अपने पत्र में कहा कि मौजूदा समय में मेट्रो में बैठने की 50 फीसद क्षमता के साथ परिचालन हो रहा है, लेकिन मेट्रो में कम दूरी के लिए यात्री सफर करते हैं। इसलिए मेट्रो कोच का डिजाइन इस तरह किया गया है ताकि अधिक से अधिक यात्री सफर कर सकें। इसलिए मेट्रो कोच में करीब 300 यात्रियों के सफर करने की क्षमता है। इस लिहाजा से मौजूदा समय में सिर्फ 10 फीसद क्षमता के साथ मेट्रो का परिचालन हो रहा है। इसलिए मेट्रो खाली चल रही है, जबकि स्टेशनों के बाहर यात्रियों की लंबी लाइन लगी रहती है, जिससे संक्रमण बढ़ने का खतरा अधिक है।

नोएडा मेट्रो में है खड़े होकर सफर करने का प्रविधान

नोएडा मेट्रो में खड़े होकर सफर करने का प्रविधान है। डीएमआरसी का कहना है कि मेट्रो में शारीरिक दूरी के साथ खड़े होकर सफर के लिए सूचक चिह्न बनाए गए हैं। नियम का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ चालान भी किया जाएगा। छह स्टेशनों के बंद करने पड़े गेट दिल्ली मेट्रो के नेटवर्क में 253 स्टेशन हैं। व्यस्त समय में ज्यादातर स्टेशनों पर औसतन 15 से 20 मिनट यात्रियों को लाइन में इंतजार करना पड़ता है। राजीव चौक सहित कई स्टेशनों पर 40 मिनट से एक घंटे तक यात्रियों को लाइन में इंतजार करना पड़ता है। शनिवार को छह स्टेशनों पर अधिक भीड़ होने के कारण दिन में कई बार गेट बंद करने पड़े, जिसमें राजीव चौक, कश्मीरी गेट, हुडा सिटी सेंटर, दिलशाद गार्डन, शाहदरा व पीतमपुरा स्टेशन शामिल हैं।

स्टेशन जहां यात्रियों की अधिक होती है भीड़

द्वारका मोड, राजीव चौक, चांदनी चौक, रमेश नगर, मोती नगर, लाजपत नगर, कैलाश कालोनी, कश्मीरी गेट, साकेत, चांदनी चौक, चावड़ी बाजार, रोहिणी पश्चिम, रिठाला, हुडा सिटी सेंटर, दिलशाद गार्डन, शाहदरा, पीतमपुरा, नोएडा सेक्टर 15, नोएडा सेक्टर 18 व बहादुरगढ़ सिटी पार्क मेट्रो स्टेशन।

 

डीएमआरसी द्वारा वेटिंग की नहीं दी जाती है सूचना

यह भी पढ़ें

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया बोले शिक्षकों और छात्रों के बीच जल्द शुरू होगा दोबारा जुड़ाव, नई होगी मूल्यांकन नीति

डीएमआरसी ने पहले कहा था कि स्टेशनों पर वेटिंग टाइम की सूचना इंटरनेट मीडिया पर दी जाएगी, लेकिन डीएमआरसी इंटरनेट मीडिया के अपने हैंडल पर नियमित सूचना जारी नहीं कर रहा है। इस वजह से भी यात्रियों को परेशानी होती है। डीएमआरसी का कहना है कि हर स्टेशन के बारे में अपडेट जारी करना संभव नहीं हो पाता। शनिवार को भी सिर्फ राजीव चौक स्टेशन पर 45 मिनट की वेटिंग होने की सूचना जारी की गई। बसों का परिचालन भी पूरी क्षमता से करने की मांग बसों का परिचालन भी बैठने की 50 फीसद क्षमता के साथ हो रहा है। इस वजह से बसों में सभी सीटों पर यात्रियों के बैठने का प्रविधान करने की मांग हो रही

 

प्रदेश