इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला की सजा पूरी, जेबीटी भर्ती मामले में सुनाई थी सजा

इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला की सजा पूरी, जेबीटी भर्ती मामले में सुनाई थी सजा

इनेलो पार्टी औऱ कार्यकर्ताओं के लिए आज बड़ी खुशखबरी मिली है। दरअसल इनेलो सुप्रीमों पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला अपनी सजा पूरी कर हमेशा के लिए जेल से रिहा हो गए हैं। तिहाड़ जेल प्रशासन ने ओम प्रकाश चौटाला के वकील को सजा पूरी होने की जानकारी दी है। कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद ओम प्रकाश चौटाला जेल से रिहा होंगे।

बता दें कि साल 2000 में पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और उनके विधायक बेटे अजय चौटाला ने अन्य सरकारी अधिकारियों के साथ नकली दस्तावेजों के आधार पर 3206 जेबीटी शिक्षकों की अवैध भर्ती करने का आरोप था। जिस पर  फरवरी, 2013 में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और उनके विधायक बेटे अजय चौटाला सीबीआई की विशेष अदालत ने 10 साल की सजा सुनाई थी।

चौटाला ने केंद्र सरकार के 18 जुलाई 2018 की अधिसूचना का हवाला दे रिहाई के लिए याचिका लगाई थी। दरअसल, अधिसूचना के तहत 60 साल से ज्यादा उम्र पार कर चुके पुरुष, 70 फीसदी वाले दिव्यांग व बच्चे अगर अपनी आधी सजा काट चुके हैं तो राज्य सरकार उसकी रिहाई पर विचार कर सकती है।

याचिका में चौटाला ने कहा था कि उनकी उम्र 86 साल की हो गई है और भ्रष्टाचार के मामले में वह सात साल की सजा काट चुके हैं।  इस तरह से वह केंद्र सरकार के जल्दी रिहाई की सभी शर्तों को पूरा कर रहे हैं। जिस पर विचार करते हुए उनकी रिहाई की जा रही है।

पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल के बेटे ओम प्रकाश चौटाला का जन्म 1 जनवरी, 1935 को सिरसा, हरियाणा के एक छोटे से गांव में हुआ था। ओम प्रकाश चौटाला की शिक्षा-दीक्षा उनके गृहनगर में ही हुई थी। चौधरी ओमप्रकाश चौटाला पांच बार (1970, 1990, 1993, 1996 और 2000) हरियाणा विधान सभा के सदस्य रह चुके हैं। वर्ष 1989 में ओम प्रकाश चौटाला पहली बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने. इसके बाद वह 1990, 1991 और 1999 में भी मुख्यमंत्री बने।

 

प्रदेश बड़ी खबर