07 जुलाई से चलेगा फाइलेरिया उन्मूलन अभियान

दरभंगा : दरभंगा, समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेदकर सभागार में जिलाधिकारी राजीव रौशन की अध्यक्षता में फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम को लेकर बैठक आयोजित की गयी।

बैठक में विश्व स्वास्थ्य संगठन के क्षेत्रीय समन्वयक डॉ. दिलीप कुमार ने बताया कि दरभंगा जिले में 07 जुलाई से प्रारंभ होकर 14 दिनों तक फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम चलाया जाएगा, जिसके अन्तर्गत 02 वर्ष से ऊपर के सभी व्यक्तियों को 03 प्रकार की दवा खिलाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि एशिया, अफ्रिका एवं दक्षिण अमेरिका में फाइलेरिया फैला हुआ है, जिसमें कश्मीर को छोड़कर सम्पूर्ण भारत में यह बीमारी मौजूद है। कहा कि इसमें एक प्रकार का कीड़ा के लारवा शरीर में रहने के कारण होता है, जिसे क्यूलैक्स नामक मादा मच्छर के संक्रमित व्यक्ति के काटने के उपरान्त स्वस्थ व्यक्ति को काटने पर हो जाता है, इस बीमारी का संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच मच्छर के माध्यम से होता है। यदि साल में एक बार इसकी दवा खा ली जाए, तो एक वर्ष तक यह बीमारी नहीं होती है और यदि दूसरे वर्ष भी एक बार यह दवा खा ली जाए, तो आदमी हमेशा के लिए फाइलेरिया बीमारी से सुरक्षित हो जाता है।
उन्होंने कहा कि 02 वर्ष से छोटे बच्चों, गर्भवती महिला, धात्री महिला एवं गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों को छोड़कर शेष सभी लोगों को फाइलेरिया बीमारी के विरुद्ध लड़ने हेतु क्षमता विकसित करने एवं फाइलेरिया से बचाव के लिए तीन प्रकार की दवा घर-घर पहुंचाई जाएगी, जिसमें डी.ई.सी, एल्बेंडाजोल सहित एक और टेबलेट दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि एक बार फाईलेरिया हो जाने पर उससे छुटकारा नहीं पाया जा सकता है, फाइलेरिया बीमारी से ग्रसित व्यक्ति का अंग एक बोझ की तरह हो जाता है और वह घर के अंदर ही रहने लगता है, बाहर की दुनिया से उसका संपर्क धीरे-धीरे कट जाता है। इसलिए साल में एक बार एम.डी.ए. का सेवन सभी लोगों के लिए आवश्यक है।


जिलाधिकारी ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि इसकी व्यापक तैयारी पूरी कर ली जाए। साथ ही दवा खिलाने वाली टीम को अच्छी तरह से ब्रिफिंग कर दी जाए तथा कोई व्यक्ति छूटे नहीं, न ही किसी को भूखे पेट दवाई खिलाई जाए, उसका ध्यान रखा जाए। साथ ही सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी इस कार्यक्रम से सम्बर्द्ध किया जाए तथा अभियान के दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अलर्ट रखा जाए।
उक्त बैठक में उप विकास आयुक्त अम्रिषा बैंस, अपर समाहर्त्ता (राजस्व) विभूति रंजन चौधरी, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, केयर इण्डिया के जिला समन्वयक डॉ. श्रद्धा झा एवं अन्य संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: